पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन को हाई कोर्ट से बड़ी राहत

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति मामले की जांच ईडी या सीबीआई से कराने की मांग वाली याचिका को हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया है। विनोद तिवारी की ओर से हाईकोर्ट में यह याचिका दायर की गई थी। यह याचिका 2020 में दायर की गई थी। याचिका की सुनवाई जस्टिस गौतम भादुड़ी और जस्टिस एनके चंद्रवंशी ने की थी।

कोर्ट ने कहा- बिना तथ्य पेश की गई याचिका पर सुनवाई 2020 से लंबित थी, जिसमें बताया गया कि डॉ. रमन सिंह के पंद्रह साल मुख्यमंत्री रहने के दौरान उनकी संपत्ति में बेतहाशा वृद्धि हुई. याचिका में बताया गया कि मामले की जांच के लिए पीएमओ को पत्र भी भेजा गया था, लेकिन जांच नहीं हुई. डॉ. रमन सिंह की ओर से पेश वकील विवेक शर्मा ने बताया, “जस्टिस गौतम भादुड़ी और जस्टिस एनसी चंद्रवंशी की डबल बेंच ने याचिका पर सुनवाई की. हाईकोर्ट ने याचिका खारिज कर दी है. हाईकोर्ट ने याचिका को लेकर कहा है कि, यह तथ्यों के बिना याचिका है, यह अदालत की प्रक्रिया का दुरुपयोग है। लगाए गए आरोपों में कोई अपराध नहीं बनता है। उनके चुनावी हलफनामों की आयकर और चुनाव आयोग द्वारा लगातार जांच की गई है और जांच में कोई गड़बड़ी नहीं पाई गई है।

Leave a Comment