छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में पुलिस के तीन जवानों की मौत

छत्तीसगढ़ के सुकमा ज़िले में नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में शनिवार को डिस्ट्रिक्ट रिज़र्व गार्ड (डीआरजी) के तीन जवान मारे गए. डीआरजी को खास तौर से नक्सलियों से मुक़ाबले के लिए बनाया गया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने बस्तर रेंज के आईजी पी सुंदरराज के हवाले से यह जानकारी दे दी है.

उन्होंने बताया कि यह हमला शनिवार सुबह नौ बजे तब हुआ, जब पुलिस की टीम जगरगुंडा और कुंदेड़ गांवों के बीच से गुजर रही थी

दोनों पक्षों की ओर से हुई गोलीबारी में असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर रामूराम नाग (36 साल), कॉन्स्टेबल कुंजम जोगा (33 साल) और कॉन्स्टेबल वंजम भीमा (31 साल) मारे गए.

राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस घटना पर दुख ज़ाहिर करते हुए कहा है कि इन जवानों की ‘शहादत’ बेकार नहीं जाएगी.

सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर उन्होंने लिखा, “बस्तर के सुकमा ज़िले के जगरगुंडा में नक्सली मुठभेड़ के दौरान हमारे तीन वीर जवानों की शहादत का समाचार दुखद है. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति और परिवारजनों को हिम्मत दे. इस दुख में हम सब साथ हैं. उनकी शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी.”

 

राजधानी रायपुर से यह जगह क़रीब 400 किलोमीटर दूर है. मुठभेड़ की सूचना मिलने पर घटनास्थल पर और सु​रक्षाबल को भेजा गया है. इलाक़े में नक्सलियों की खोज जारी है.

पुलिस का दावा है कि उसकी ओर से चली गोलियों से क़रीब छह नक्सली मारे गए हैं, जिनके शव लेकर भागने में उनके साथी सफल रहे.

इससे पहले 20 फ़रवरी को हुई एक अन्य वारदात में दो पुलिसकर्मी मारे गए थे.

Leave a Comment