​छग में पूर्व प्रमुख सचिव अमन सिंह और पत्नी की अग्रिम जमानत याचिका जिला कोर्ट से खारिज

पूर्व प्रमुख सचिव अमन सिंह की अग्रिम जमानत याचिका 10 मार्च, शुक्रवार को जिला अदालत ने खारिज कर दी। आय से अधिक संपत्ति केस में फंसे पूर्व प्रमुख सचिव अमन सिंह की जमानत याचिका पर एडीजे संतोष कुमार तिवारी की अदालत में सुनवाई हुई। कोर्ट ने संबंधित पक्षों की दलील सुनने के बाद अग्रिम जमानत देने से इंकार कर दिया। इससे पहले अमन सिंह की हाईकोर्ट में भी याचिका लगी थी। हाईकोर्ट ने अग्रिम जमानत देने से मना करते हुए निचली अदालत में जाने के लिए कहा था।

क्या है मामला?

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की आंख की सीधी किरकिरी बने अमन सिंह के खिलाफ मुख्यमंत्री सचिवालय से एक पत्र एंटी करप्शन ब्यूरो को 24 फरवरी 2019 को भेजा गया, जिसमें प्राथमिक जांच क्रमांक 35/2019 के उल्लेख के साथ निर्देश था कि अमन सिंह और उनकी पत्नी यास्मिन सिंह के विरुद्ध नंबरी अपराध दर्ज कर सूचित करने के निर्देश थे। एसीबी ने अमन सिंह और उनकी पत्नी के विरुद्ध धारा 13(1)बी,13(2) भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम और 120 बी के तहत अपराध दर्ज कर लिया।

Leave a Comment