छत्तीसगढ़ में ED ब्यूरोक्रेट अनिल टुटेजा, मेयर एजाज ढेबर समेत कई शराब बिजनेसमैन के यहां पहुंची

छत्तीसगढ़ में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम ने लगातार दूसरे दिन (29 मार्च) कार्रवाई जारी रखी है। इसमें ईडी ने भूपेश सरकार में प्रभावशाली अफसर अनिल टुटेजा, रायपुर के महापौर एजाज ढेबर, शराब व्यवसायी अनवर ढेबर, पप्पू भाटिया और अमोलक सिंह भाटिया और भिलाई में कारोबारी पप्पू बंसल के यहां दबिश दी। ईडी  (28 मार्च) ने कल जिन जगहों पर कार्रवाई की थी, वहां से देर रात सभी टीमें लौट गईं। इस बात की जानकारी किसी को नहीं थी, ईडी अगले ही दिन फिर कार्रवाई करेगी।

आज जिनके यहां ईडी की टीम पहुंची, वे प्रभावशाली

अनिल टुटेजा उद्योग विभाग के सचिव हैं। वे भूपेश सरकार में काफी प्रभावशाली माने जाते हैं। कल (28 मार्च) ईडी की टीम उसी विभाग में पदस्थ प्रवीण शुक्ला के घर पर दबिश दे चुकी है। अनिल टुटेजा और अनवर ढेबर (शराब कारोबारी) पर इसके पहले भी आयकर और ईडी अपनी भौंहें टेढ़ी कर चुकी है। अनवर ढेबर रायपुर मेयर एजाज ढेबर के भाई हैं। अनवर का शराब से जुड़ा कारोबार है।

 

शराब लॉबी निशाने पर

यदि अनिल टुटेजा और एजाज ढेबर को छोड़ दें तो बाकी नाम शराब से जुड़े हैं। भिलाई में जिन एपी त्रिपाठी के घर पर ईडी पहुंची, वे शराब कारोबार में हमेशा चर्चा में रहे हैं। झारखंड में अनवर ढेबर और एपी त्रिपाठी ने शराब कारोबार किया था। झारखंड में छत्तीसगढ़ की कंपनियों को शराब का काम मिलने में बड़ी गड़बड़ी का आरोप लगाया गया था। इसके अलावा शराब कारोबार से जुड़े भिलाई के अतुल सिंह, शराब कारोबार से जुड़ी फर्म केडिया डिस्टलरी के तीन कर्मचारी, बिलासपुर में शराब कारोबारी अमोलक भाटिया और भिलाई में सीएम भूपेश के करीबी व्यवसायी पप्पू बंसल के यहां ईडी ने छापा मारा।

Leave a Comment